RO.NO.12784/141
राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार ने 4 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता

नई दिल्ली
पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) में 4% की बढ़ोतरी की गई है। इसे लेकर सरकारी अधिसूचना मंगलवार को जारी हुई। इसमें बताया गया कि यह आदेश 1 अप्रैल 2024 से लागू होगा। नोटिफिकेशन में कहा गया, 'महंगाई भत्ते और महंगाई राहत की दर में वृद्धि और वित्त विभाग के ज्ञापन संख्या 1090-एफ(पी2) दिनांक 01/03/2024 के अनुसार दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए दैनिक मजदूरी दर 01/05/2024 के स्थान पर 01/04/2024 से लागू होगी। राज्यपाल ने फैसले को मंजूरी दी है। राज्य सरकार और सरकारी सहायता प्राप्त शैक्षणिक संस्थाओं, सांविधिक निकायों, सरकारी उपक्रमों, पंचायतों (पंचायत कर्मी सहित), नगर निगमों/नगर पालिकाओं, स्थानीय निकायों आदि के कर्मचारियों और पेंशनरों/परिवार पेंशनरों को इसका लाभ मिलेगा।'

दूसरी ओर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने पंजाब में प्रदर्शनकारी किसानों को आश्वासन दिया कि उनकी पार्टी एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी दिए जाने का मुद्दा संसद के आगामी सत्र में उठाएगी। टीएमसी के 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल की ओर से पंजाब के खनौरी सीमा पर किसानों से मुलाकात के बाद यह आश्वासन दिया गया। बनर्जी ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि TMC हमेशा किसानों के न्याय के लिए खड़ी रहेगी।

MSP को लेकर टीएमसी का बड़ा बयान
प्रतिनिधिमंडल में टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन, मोहम्मद नदीमुल हक, डोला सेन, सागरिका घोष और साकेत गोखले शामिल थे। ये सभी राज्यसभा सदस्य हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी ने किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल से फोन पर बातचीत की। बनर्जी ने उन्हें बताया कि आगामी संसद सत्र के दौरान उनकी पार्टी के सांसद फसलों के लिए एमएसपी की गारंटी देने वाले कानून का मुद्दा उठाएंगे। सागरिका घोष ने किसानों से मुलाकात के बाद पोस्ट किया, 'हमारी नेता ममता बनर्जी ने किसान नेताओं से फोन के माध्यम से बात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि हमारी पार्टी हमेशा किसानों के न्याय के लिए खड़ी रहेगी। जय हिंद। जय किसान।'

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button