RO.NO.12784/141
खेल जगत

पेरिस ओलंपिक: सिंधु, शरत कमल होंगे भारतीय ध्वजवाहक; नारंग को मिली सीडीएम की भूमिका

RO.NO.12784/141

नई दिल्ली
लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता निशानेबाज गगन नारंग ने पेरिस ओलंपिक के लिए भारत के शेफ-डी-मिशन (सीडीएम) होंगे, उन्होंने मैरी कॉम की जगह ली, जबकि शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु उद्घाटन समारोह के दौरान भारतीय दल की महिला ध्वजवाहक होंगी। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा ने कहा कि मैरी कॉम के इस्तीफे के बाद 41 वर्षीय नारंग को डिप्टी सीडीएम के पद से पदोन्नत करना एक स्वतःस्फूर्त निर्णय था। पीटी उषा ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, मैं अपने दल का नेतृत्व करने के लिए एक ओलंपिक पदक विजेता की तलाश कर रही थी और मेरी युवा सहकर्मी मैरी कॉम के लिए एक उपयुक्त प्रतिस्थापन है। छह बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम ने अप्रैल में अपने पद से इस्तीफा देते हुए कहा था कि उनके पास व्यक्तिगत कारणों से पद छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा था। इस साल मार्च में आईओए ने उन्हें सीडीएम नियुक्त किया था।

शेफ-डी-मिशन एक महत्वपूर्ण प्रशासनिक पद है क्योंकि वह भाग लेने वाले एथलीटों के कल्याण को सुनिश्चित करने, उनकी जरूरतों का ख्याल रखने और आयोजन समिति के साथ संपर्क करने के लिए जिम्मेदार है। आईओए ने यह भी घोषणा की कि लगातार दो ओलंपिक पदक जीतने वाली भारत की एकमात्र महिला एथलीट सिंधु 26 जुलाई को उद्घाटन समारोह के दौरान भारतीय दल की ध्वजवाहक होंगी, उनके साथ टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल भी होंगे।

उषा ने कहा, मुझे यह घोषणा करते हुए भी खुशी हो रही है कि दो ओलंपिक पदक जीतने वाली भारत की एकमात्र महिला पीवी सिंधु उद्घाटन समारोह में टेबल टेनिस खिलाड़ी ए शरत कमल के साथ महिला ध्वजवाहक होंगी। आईओए ने मार्च में कमल को ध्वजवाहक नियुक्त किया था, लेकिन महिला एथलीट को चुनने के फैसले में देरी की। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने 2020 में अपने प्रोटोकॉल में बदलाव करते हुए ग्रीष्मकालीन खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान प्रत्येक एनओसी के एक महिला और एक पुरुष एथलीट को संयुक्त रूप से ध्वज उठाने की अनुमति दी थी।

टोक्यो ओलंपिक में मैरी कॉम और पूर्व हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह भारत के ध्वजवाहक थे। उषा ने कहा, मुझे विश्वास है कि हमारे एथलीट पेरिस 2024 ओलंपिक खेलों में भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ परिणाम देने के लिए अच्छी तरह तैयार हैं। 26 जुलाई से शुरू होने वाले पेरिस खेलों के लिए 100 से अधिक एथलीटों ने क्वालीफाई किया है। दिलचस्प बात यह है कि पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता नारंग को शूटिंग रेंज में भारत के संचालन की देखरेख का काम सौंपा गया था, जो मुख्य स्थलों से बहुत दूर है।

भारत ओलंपिक में अब तक का अपना सबसे बड़ा निशानेबाजी दल उतारेगा, जिसमें 21 खिलाड़ियों ने खेलों के लिए क्वालीफाई किया है। अब जबकि नारंग को सीडीएम की भूमिका के लिए चुन लिया गया है, आईओए को शूटिंग रेंज में उनका विकल्प ढूंढना होगा।

 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO.NO.12784/141

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button