RO.NO.12822/173
राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

एमपी का महामुकाबला: कहीं भाजपा- कांग्रेस में सीधी टक्कर, कहीं त्रिकोणीय मुकाबला

RO.NO.12784/141

भोपाल

विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में बंद हो जाएगा। इस बार चुनाव में भाजपा ने अपने 6 बढ़े नेताओं पर इस चुनाव में दांव लगाया है,वहीं कांग्रेस ने कोई भी अप्रत्याशित चेहरा मैदान में नहीं उतारा है। वहीं प्रदेश में हर अंचल में मुख्य मुकाबल कांग्रेस और भाजपा में ही हैं,हालांकि इनमें से करीब तीन दर्जन सीटों पर मुकबाल त्रिकोणीय, चतुष्कोणीय होने के कारण मुकाबला रोचक हो चला है।

इनका है रोचक मुकाबला
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस, नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह, मंत्री उषा ठाकुर जैसे बड़े नेता सहित एक दर्जन से ज्यादा नेता इस बार त्रिकोणीय मुकाबले में हैं। इन सीटों पर कांग्रेस-भाजपा के अलावा अन्य दल या निर्दलीय मजबूत टक्कर दे सकते हैं। त्रिकोणीय मुकाबले में भाजपा के ही नहीं बल्कि कांग्रेस के भी कई ताकतवर नेता उलझे हुए हैं। इन सभी सीटों पर मुकाबला रोचक होने की संभावना के चलते पूरे प्रदेश की नजर इन सीटों पर रहेगी।
गुरुवार को नाम वापसी के बाद अब मुकाबले की स्थिति साफ हो चली है। इसके बाद यह माना जा रहा है कि भाजपा और कांग्रेस के कई नेता कठिन मुकाबले में फंसे हुए हैं। उनकी सीटों पर न सिर्फ वे चुनाव में दम दिखाएंगे, बल्कि बसपा, सपा और आप के अलावा निर्दलीय भी उनकी सीट पर मजबूती से चुनाव लड़ेंगे।

ये बड़े नेता रोचक मुकाबले में
– केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर दिमनी से भाजपा उम्मीदवार हैं। यहां से कांग्रेस ने विधायक रवींद्र सिंह तोमर को उतारा है। वहीं इसी सीट से विधायक रह चुके बलवीर सिंह दंडौतिया बसपा से उम्मीदवार हैं।
– नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोंविद सिंह भी लहार सीट से त्रिकोणीय मुकाबले में हैं। भाजपा ने यहां से अमरीश शर्मा को उम्मीदवार बनाया है। जबकि यहां से रसाल सिंह बसपा से उम्मीदवार हैं। वे चार बार के विधायक हैं।
– मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया अटेर से उम्मीदवार हैं, यहां से कांग्रेस ने हेमंत कारे को टिकट दिया है। इन दोनों के अलावा मुन्ना सिंह भदौरिया भी यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। मुन्ना सिंह भदौरिया इसी सीट से विधायक रह चुके हैं।
– विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एनपी प्रजापति के सामने गोटेगांव से भाजपा के महेंद्र नगेश् के अलावा शेखर चौधरी भी मैदान में हैं। शेखर को कांग्रेस ने पहले टिकट दे दिया था, बाद में उनका टिकट बदल दिया गया था। शेखर चौधरी भी यहां से विधायक रह चुके हैं।
– महू से मंत्री उषा ठाकुर त्रिकोणीय मुकाबलें में फंसी हुई है। कांग्रेस से बागवत कर निर्दलीय उतरे अंतर सिंह दरबार ने भी यहां के मुकाबाल त्रिकोणीय कर दिया है। कांग्रेस ने यहां पर रामकिशोर शुक्ला को टिकट दिया है।
– पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस इस बार त्रिकोणीय मुकाबले में हैं। यहां पर कांग्रेस के सुरेंद्र सिंह शेरा के अलावा प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन सिंह चौहान भी मुकाबले में हैं।
– सिंगरौली की महापौर रानी अग्रवाल के मैदान में आप से उतरते ही यहां पर भी त्रिकोणीय मुकाबला हो गया है। भाजपा के रामनिवास शाह, कांग्रेस में यहां से रेणु शाह को उम्मीदवार बनाया है। यहां पर तीनों के बीच रौचक मुकाबला होगा।
– मुरैना भाजपा के पूर्व मंत्री रुस्तम सिंह के बेटे राकेश सिंह बसपा से उम्मीदवार हैं। कांग्रेस ने दिनेश गुर्जर और भाजपा रघुराज सिंह कंसाना को अपना उम्मीदवार है। तीनों के बीच कड़े मुकाबले की संभावना है।

इन सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला
इनके अलावा सीधी, भिंड, आलोट, मैहर,चाचौड़ा में भी मुकाबला त्रिकोणीय माना जा रहा है। इनके अलावा भोपाल उत्तर, सुमावली, सिरमौर, निवाड़ी, अलीराजपुर में भी त्रिकोणीय मुकाबला बना हुआ है। वहीं धार में चतुष्कोणीय मुकबला माना जा रहा है।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO.NO.12784/141

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
× How can I help you?