RO.NO.12822/173
राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

MRI मशीन तक से निकले हथियार, अस्पताल में हमास के ठिकाने से क्या मिला

RO.NO.12784/141

तेल अवीव

इजरायल की सेना ने गाजा के सबसे बड़े अल-शिफा अस्पताल से बड़ी संख्या में हथियार मिलने का दावा किया है। ये हथियार आतंकी संगठन हमास के लड़ाकों के बताए जा रहे हैं। इजरायली सेना का कहना है कि हमास ने एमआरआई मशीनों तक में हथियार छिपा रखे थे। इजरायली सेना ने यह भी माना है कि उसे यहां हमास के कमांड सेंटर का पता नहीं चला है और ना ही सुरंगों की जानकारी मिल पाई है। लेकिन इतना साफ है कि इसे आतंकी बेस के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था। बुधवार को ही इजरायल की सेना ने इस अस्पताल में रेड मारी थी और गहनता से एक-एक वार्ड और मशीनों तक की जांच की गई।

इसी दौरान एमआरआई मशीनों तक से एके-47 राइफलें और तमाम गोला बारूद बरामद किया गया। सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जोनाथन कॉनरिकस ने एक तस्वीर और वीडियो में दिखाया है कि कैसे एमआरआई मशीन से राइफलें, ग्रेनेड, वर्दी और अन्य हथियार पाए गए। उन्होंने यह भी कहा कि एक बैग भी मौके से बरामद हुआ है, जिसमें एक लैपटॉप है और उसमें कई इंटेलिजेंस से जुड़ी जानकारियां रखी गई हैं। इजरायली सेना ने कहा कि इन हथियारों का आखिर अस्पताल में क्या काम था। साफ है कि इस अस्पताल को हमास आतंकी बेस के तौर पर यूज कर रहा था। 

बुधवार को तड़के 2 बजे ही इजरायल की सेना अस्पताल के अंदर घुसी थी। इसके बाद उसने 16 साल से अधिक आयु के सभी पुरुषों की जांच की थी और उनसे सरेंडर करा लिया था। इस दौरान अस्पताल के बाहर टैकों की तैनाती की गई थी। अब अस्पताल के बाहर बुलडोजर तैनात हैं। इसे आशंका जताई जा रही है कि इस अस्पताल को गिराने की कार्रवाई भी की जा सकती है। हालांकि इजरायल सरकार या सेना ने इस पर कुछ कहा नहीं है। अस्पताल के डॉक्टरों ने कहा कि इजरायली सेना ने उन्हें आधे घंटे का समय दिया था। इसके बाद वे दाखिल हो गए।

 

इजरायल की सेना ने एंट्री के दौरान बाहर 6 टैंकों को तैनात कर रखा था। हालांकि इजरायल और गाजा प्रशासन इस वाकये को लेकर अलग-अलग बात कह रहे हैं। हमास का कहना है कि अस्पताल में ऐसा कोई ठिकाना नहीं था। इस हमले के लिए उसने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को जिम्मेदार ठहराया है। हमास ने कहा कि उसकी शह पर ही इजरायल की सेना ने यह मानवीय अपराध किया है। वहीं इजरायल की सेना का कहना है कि उसने रेड के दौरान मेडिकल सप्लाई और इलाज को बाधित नहीं किया। उसने ऐसी कई तस्वीरें भी जारी की हैं, जिसमें इजरायली सेना के जवान मेडिकल सप्लाई करते दिख रहे हैं। 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO.NO.12784/141

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
× How can I help you?