राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

म्यांमार का छह लाख एकड़ से अधिक कपास उगाने का लक्ष्य

म्यांमार का छह लाख एकड़ से अधिक कपास उगाने का लक्ष्य

अमेरिका में एक मालवाहक जहाज पुल से टकराया

लाल सागर और यमन में हूती ड्रोन नष्ट किए: अमेरिकी सेना

यांगून
म्यांमार का वित्तीय वर्ष 2024-25 के दौरान देश के छह राज्यों और क्षेत्रों में छह लाख एकड़ से अधिक कपास की खेती करने का लक्ष्य है।
म्यांमार की आधिकारिक ग्लोबल न्यू लाइट मीडिया ने  अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।
रिपोर्ट में केंद्रीय कृषि, पशुधन और सिंचाई मंत्री यू मिन नौंग के हवाले से कहा गया है कि देश भर के छह राज्यों में कुल 612,712 एकड़ कपास उगाई जाएगी। कपास उत्पादन में अनुमानित वार्षिक वृद्धि के साथ 2027-28 वित्तीय वर्ष में अपने कपास बागानों को 747,000 एकड़ तक विस्तारित करने का भी लक्ष्य रखा है।

रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय मंत्री ने  मैगवे क्षेत्र के अधिकारियों के साथ एक बैठक में संबंधित विभागों, व्यापारियों और किसानों से कपास के बागानों और उत्पादन में कठिनाइयों और सीमाओं को दूर करने के लिए सहयोग करने का आग्रह किया था। उन्होंने सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यमों (एमएसएमई) के विकास में कपास की भूमिका और कपास उत्पादन में अनुमानित वृद्धि के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि इससे घरेलू मांग से परे निर्यात की सुविधा मिलेगी।
म्यांमार में एक एकड़ कपास के बागान में लगभग 700 विस्से (1,143 किलोग्राम से अधिक) कपास का उत्पादन होता है।

अमेरिका में एक मालवाहक जहाज पुल से टकराया

ओक्लाहोमा
 अमेरिकी राज्य ओक्लाहोमा में एक मालवाहक जहाज एक पुल से टकरा गया। ओक्लाहोमा राजमार्ग गश्ती ने यह जानकारी दी।
एजेंसी ने  एक्स पर कहा, "केर जलाशय में सैलिसॉ के दक्षिण में यूएस-59 इस समय पुल से टकराए एक माल वाहक जहाज के कारण पूरी तरह से बंद है। सैनिक यातायात को क्षेत्र से दूर मोड़ रहे हैं। पुल के निरीक्षण तक पुल बंद रहेगा बनाया जा सकता है।'
ओक्लाहोमा परिवहन विभाग ने बाद में शनिवार को कहा कि इंजीनियरों द्वारा इसकी संरचना का निरीक्षण करने के बाद पुल को फिर से खोल दिया गया।
गौरतलब है कि सिंगापुर के ध्वज वाला एक वाणिज्यिक मालवाहक जहाज श्रीलंका के कोलंबो शहर के लिए बंदरगाह से रवाना होने के तुरंत बाद बाल्टीमोर में फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज से टकरा गया था।
दुर्घटना में पुल ढह गया, जिससे पुल पर काम कर रहे निर्माण दल के करीब आठ लोग समुद्र में गिर गये। अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार शाम छह लोगों को मृत पाया गया।
स्थानीय पुलिस ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि दो शव बरामद किये गये हैं।
पुल के ढहने के बाद बाल्टीमोर बंदरगाह में जहाज यातायात को अगली सूचना तक निलंबित कर दिया गया।

लाल सागर और यमन में हूती ड्रोन नष्ट किए: अमेरिकी सेना

काहिरा
अमेरिकी बलों ने युद्धग्रस्त यमन में हूती विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्र में एक ड्रोन और लाल सागर में एक महत्वपूर्ण जलमार्ग के ऊपर एक अन्य ड्रोन को नष्ट कर दिया। अमेरिकी सेना ने यह जानकारी दी।

ईरान समर्थित विद्रोहियों और अमेरिका के बीच कई महीनों से बढ़ रहे तनाव के बीच यह ताजा घटना हुई है।

अमेरिकी मध्य कमान (सेंटकॉम) ने  सुबह नष्ट किए गए ड्रोन क्षेत्र में अमेरिकी एवं गठबंधन बलों और वाणिज्यिक पोत के लिए खतरा थे।

उसने बताया कि एक ड्रोन को लाल सागर के ऊपर नष्ट किया गया, जबकि दूसरे ड्रोन को जमीन पर तब नष्ट कर दिया गया जब उसे उड़ाने की तैयारी की जा रही थी।

सेंटकॉम ने कहा, ‘‘हमारी सेनाओं की सुरक्षा एवं नौवहन की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने और अंतरराष्ट्रीय जल क्षेत्र को अमेरिका, गठबंधन और वाणिज्यिक पोतों के लिए अधिक सुरक्षित बनाने के लिए ये कार्रवाई आवश्यक हैं।’’

इस मामले पर हूती विद्रोहियों ने कोई टिप्पणी नहीं की। इन विद्रोहियों का यमन के उत्तर और पश्चिम के अधिकतर हिस्से पर नियंत्रण है।

 

तुर्किये में एर्दोगन की सत्ता को करारा झटका, मेयर चुनाव में इस्तांबुल, अंकारा सहित पांच बड़े शहरों में विपक्षियों की जीत

अंकारा
दो दशक से ज्यादा समय से तुर्किये की सत्ता पर काबिज रेचेप तैयप एर्दोगन को करारा झटका लगा है। देशभर में हुए मेयर चुनाव में उनकी पार्टी एकेपी को भारी हार का सामना करना पड़ा है। तुर्किये की मुख्य विपक्षी पार्टी ने राजधानी अंकारा, इस्तांबुल और इजमिर समेत पांच बड़े शहरों में जीत हासिल की है।

तुर्किये के राष्ट्रपति के रूप में तीसरा कार्यकाल हासिल करने के एक साल के भीतर ही बड़े शहरों में मेयर चुनाव में हुई इस हार ने 70 वर्षीय एर्दोगन की हुकूमत को हिलाकर रख दिया है। उनकी पार्टी की इस हार से राजनीतिक विश्लेषक भी हैरान हैं। राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद एर्दोगन शहरों के राजनीतिक नेतृत्व पर अपने वर्चस्व को लेकर निश्चिंत थे लेकिन स्थानीय निकाय चुनाव में उनकी पार्टी के उम्मीदवारों की हार ने उन्हें आईना दिखा दिया है।

खास बात यह है कि इंस्ताबुल में एर्दोगन ने खुद प्रचार किया था लेकिन यहां सेक्युलर विपक्षी दल सीएचपी के एकरम इमामोगोलु चुनाव जीत गए। चुनाव प्रचार के दौरान एर्दोगन ने इंस्ताबुल में नए युग की शुरुआत का वादा किया था लेकिन एक करोड़ साठ लाख आबादी वाले इस शहर ने विरोधी दल में विश्वास जताया। इसी तरह राजधानी अंकारा में एर्दोगन की पार्टी को शर्मनाक स्थिति का सामना करना पड़ा है। विपक्षी मेयर मंसूर यावस अपने प्रतिद्वंद्वी से इतने आगे निकल गए कि उन्होंने आधे से अधिक वोटों की गिनती से पहले ही अपनी जीत की घोषणा कर दी।

स्थानीय चुनावों में खराब प्रदर्शन को स्वीकार करते हुए एर्दोगन ने कहा कि वैसा नहीं हुआ जैसा उन्हें उम्मीद थी। तुर्किये टेलीविजन पर आधी रात में दिए अपने संबोधन में एर्दोगन ने हार स्वीकार करते हुए कहा कि उनकी सरकार लोगों की इच्छा का सम्मान करेगी। हम लोगों की इच्छा का सम्मान करेंगे और अपनी गलतियों का आकलन करेंगे।

 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button