राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

जिस लड़के के अपहरण का आरोप, पुलिस के सामने उसी से लड़की की कराई पकड़ौआ शादी

बेगूसराय.

बिहार के बेगूसराय से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। मंदिर में बिहार सरकार के कर्मचारी (राजस्व विभाग में कर्मचारी) की शादी करवा दी गई। वह भी पुलिस के सामने। राजस्व कर्मचारी के पिता का आरोप है कि सोची समझी साजिश के तहत लड़की वालों ने मेरे बेटे की शादी करवा दी। पुलिस भी मिली हुई थी। क्योंकि पुलिस के सामने पकड़ौआ विवाह हुआ। पुलिस ने हमलोगों को जानकारी तक नहीं दी। वहीं लड़की के परिजनों का कहना है कि राजस्व कर्मचारी उनकी बेटी को पसंद करता था। शादी के लिए कोई जोर जबरदस्ती नहीं की गई है। पुलिस के सामने यह शादी हुई है। शादी के बाद लड़की को लड़के के साथ भेज दिया गया है।

बताया जा रहा है कि छौड़ाही थाना क्षेत्र के पतला गांव निवासी श्याम नारायण महतो का बेटा रिंटू कुमार सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर प्रखंड में राजस्व कर्मचारी के पद पर तैनात है। समस्तीपुर के रहने वाले जागेश्वर प्रसाद ने अपनी बेटी के विवाह का प्रस्ताव रिंटू के घर भेजा था लेकिन रिंटू ने फिलहाल शादी नहीं करने की बात कर रिश्ता वापस लौटा दिया। एक महीना पहले जब रिंटू छुट्टियों में घर आया तो लड़की भी अपने रिश्तेदार के घर (रिंटू के गांव) पहुंची थी।

लड़की के रिश्तेदारों ने चाय पिलाने के बहाने बुलाया था
लड़की के रिश्तेदारों ने राजस्व कर्मचारी रिंटू को चाय पीने के बहाने अपने घर बुलाया और वहां लड़की से उसकी मुलाकात कराई। इसके बाद रिंटू वापस सीतामढ़ी चला गया। इसी बीच लड़की के रिश्तेदार ने राजस्व कर्मचारी को फोन किया कि एक युवक के परीक्षा का सेंटर सीतामढ़ी में पड़ा है। उसके ठहरने की व्यवस्था करवा दीजिए। राजस्व कर्मचारी ने उनकी बात मान ली। और, कहा कि कोई दिक्कत नहीं है। भेज दीजिए, मैं परीक्षा दिलवा दूंगा। बीते बुधवार को लड़की राजस्व कर्मचारी रिंटू के कमरे पर पहुंच गई।

लड़की के पिता ने राजस्व कर्मचारी पर अपहरण का लगाया आरोप
इधर, लड़की के पिता ने थाने में आवेदन दिया कि राजस्व कर्मचारी रिंटू ने उसकी बेटी का अपहरण कर लिया है। इसके बाद पुलिस ने राजस्व कर्मचारी के मोबाइल पर फोन किया और लड़की को लेकर थाने पहुंचने को कहा। राजस्व कर्मचारी लड़की को लेकर समस्तीपुर पहुंच। यहां स्टेशन पर मौजूद विभूतिपुर थाने की पुलिस ने दोनों को वहां से थाने ले गई। इसके बाद बाबा विभूतिपुर मंदिर में राजस्व कर्मचारी का पकड़ौआ विवाह करा दिया गया। राजस्व कर्मचारी के पिता का आरोप है कि उन लोगों को पुलिस ने सूचना तक नहीं दी। परिजनों ने सोची समझी साजिश के तहत उनके बेटे की शादी कराने का आरोप लगाया है। पूरे मामले में राजस्व कर्मचारी का बयान नहीं आया है। वहीं लड़की वालों का कहना है कि लड़के के साथ शादी के लिए कोई जोर जबरदस्ती नहीं की गई है। शादी के बाद लड़की को लड़के के साथ भेज दिया गया है।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button