खेल जगत

पेरिस ओलंपिक के लिए खिलाड़‍ियों के कमरे में एंटी-सेक्स बेड मिलेंगे, जानें पूरा मामला…

पेर‍िस
पेर‍िस ओलंप‍िक में हिस्सा लेने वाले ख‍िलाड़‍ियों को 'एंटी सेक्स बेड' मिलेंगे, कुछ रिपोर्टों में ऐसा दावा किया गया है. अपडेट यह है कि अब ख‍िलाड़‍ियों को 'अल्ट्रा-लाइट बेड' (Ultra-light cardboard beds) दिए जाएंगे.

'न्यूयॉर्क पोस्ट' की रिपोर्ट में यह दावा किया गया कि 2024 ओलंपिक खेलों से पहले पेरिस में एंटी-सेक्स बेड आ गए हैं, इन बेड के मैटेर‍ियल और साइज का उद्देश्य कथित तौर पर ओलंप‍िक के दौरान एथलीटों को सेक्सुअल एक्ट‍िव‍िटी से रोकना है.

वहीं इस रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि ये बेड ट्व‍िन साइज में हैं, इसका आशय यह कि ख‍िलाड़‍ियों के लिए एक साथ बैठने के लिए कोई जगह नहीं है.

इस रिपोर्ट में बताया गया कि इन बेड का निर्माण एयरवेव (Airweave) द्वारा किया गया है, जिसने टोक्यो 2020 ओलंपिक गेम्स के लिए  भी प्रोडक्ट्स  बनाए थे.

अल्ट्रा-लाइट कार्डबोर्ड बेड का उपयोग पहली बार 2021 में जापान में आयोजित टोक्यो ओलंपिक 2020 में किया गया था. तब यह अफवाह उड़ी थी कि इन बेड का निर्माण एथलीटों को सेक्सुअल एक्ट‍िव‍िटी से रोकने के लिए किया गया है.

दरअसल, जब 'एंटी-सेक्स बेड्स' लगाने की बात पेर‍िस ओलंप‍िक में सामने आई तो ऐसे सवाल भी उठे कि इसका लगाने का उद्देश्य यह है कि ख‍िलाड़ी केवल अपने खेलों पर फोकस करें. वहीं कुछ रिपोर्टों में यह भी दावा किया गया है कि अल्टा-लाइट कार्डबोर्ड बेड लगाने का उद्देश्य किसी भी तरह की सेक्सुअल एक्ट‍िव‍िटी पर रोकथाम लगाना है.

जब ओलंप‍िक एथलीट पॉल चेल‍िमो ने उठाए थे सवाल

एंटी सेक्स बेड के बारे में रिपोर्ट ओलंपिक धावक पॉल चेलिमो (Paul Chelimo) के उस ट्वीट के बाद आई, जिसमें उन्होंने कहा था कि ऐसे बेड टोक्यो ओलंपिक के दौरान एथलीटों के बीच सेक्सुअल एक्ट‍िव‍िटी को रोकने के लिए लगाए गए थे. यही वजह है कि लोगों ने चेलिमो की बात पर विश्वास कर लिया, क्योंकि ओलंपिक विलेज में व्यभिचार को लेकर कई कहानियां हैं.

अगर कुछ एथलीटों की मानें तो ओलंपिक खेल यौन गत‍िव‍िध‍ियों में ल‍िप्त हो जाते हैं. एक एथलीट ने अपनी पहचान गुप्त रखने पर 'मिरर' को यहां तक बताया कि 2012 के लंदन खेलों के दौरान ओलंपिक विलेज में उसने एक पुरुष ख‍िलाड़ी और दो महिलाओं संग एक साथ सम्बंध बनाए थे.

ओलंपिक में कार्डबोर्ड बिस्तर क्यों?
वैसे ओलंप‍िक में एंटी-सेक्स बेड को लेकर रिपोर्टों सामने आईं तो यूएसए टुडे ने इसे लेकर फैक्ट चेक किया. इसमें पाया गया कि कार्डबोर्ड बेड का मकसद सेक्सुअल एक्ट‍िव‍िटी को रोकना है, इस मामले में कोई सच्चाई नहीं थी.

यूएसए टुडे ने खुलासा किया कि बेड का वजन 441 पाउंड (200 किलोग्राम) था और सेक्सुअल एक्ट‍िविटी को हतोत्साहित करने के लिए पर्याप्त हल्का नहीं था. यूएसए टुडे ने इसे लेकर टोक्यो 2020 के आयोजक ताकाशी किताजिमा से बात भी की थी. तब ताकाशाी ने कहा- इन बिस्तरों को इसलिए रखा गया था ताकि इनका दोबारा उपयोग किया जा सके, वहीं इन बेड से पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाला अपशिष्ट पैदा नहीं होता था.

आयरिश जिमनास्ट राइस मैक्लेनाघन (Rhys McClenaghan) ने भी ऐसे दावों का खंडन किया था. उन्होंने तब एक टिकटॉक वीडियो भी बनाया जिसमें वह अपने बिस्तर के ऊपर कूदते हुए देखे जा सकते हैं. उन्होंने उन दावों को खारिज कर दिया कि बिस्तर किसी भी यौन गतिविधि के लिए बहुत हल्का था.

26 जुलाई से शुरू हो रहे हैं ओलंप‍िक गेम्स

पेरिस में ओलंप‍िक गेम्स 2024 की शुरुआत 26 जुलाई से हो रही है, जो 11 अगस्त तक चलेंगे. फ्रांस की राजधानी में इन गेम्स के दौरान करीब 10 हजार एथलीट्स पहुंचेंगे.

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button