RO.NO.12784/141
राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

पीएम मोदी के ‘बिहारी हनुमान’ पर सबकी निगाहें, एग्जिट पोल में चिराग की पार्टी को मिल रहीं पांच सीटें

हाजीपुर/वैशाली.

इस बार पीएम नरेंद्र मोदी के हनुमान चिराग पासवान और उनकी पार्टी पर सबकी निगाहे हैं। इस बार लोकसभा चुनाव के नतीजे चार जून को घोषित किए जाएंगे। नतीजों से पहले अलग-अलग मीडिया चैनलों और सर्वे एजेंसियों की तरफ से एग्जिट पोल जारी किए। आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल के अनुसार, चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) को चार सीटें मिलने की उम्मीद है।

हाजीपुर सीट भी चिराग के खाते में जाने का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं इंडिया टीवी के एग्जिट पोल में लोजपा-रामविलास को तीन से चार सीटें मिलने का अनुमान दिखाया है। न्यूज 24 टुडेज चाणक्य का एग्जिट पोल भी चिराग के पक्ष में ही दिख रहा। हालांकि, कुछ चुनावी विश्लेषक चिराग पासवान को पांचों सीट जीतने का अनुमान जता रहे हैं। वहीं कुछ खगड़िया और वैशाली सीट पर नुकसान का दावा भी कर रहे।

चिराग का दावा- हमारी पार्टी भी पांच की पांच सीटें जीत रही है
लोजपा-आर के अध्यक्ष चिराग पासवान कहा कि इस बात में कहीं कोई संदेह नहीं है कि हम लोग बिहार की सभी 40 सीटें जीत रहे हैं। यह सातवां चरण हमलोगों को 400 पार भी कराएगा। एक बात तय है कि नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। हमारी पार्टी भी पांच की पांच सीटें जीत रही है। अभी तो मात्र एग्जिट पोल में ही परिणाम आएं है, पूरी झांकी तो अभी बांकी है। पाटलिपुत्र से एनडीए प्रत्याशी रामकृपाल यादव पर जानलेवा हमला करना कायरतापूर्ण हरकत है। विपक्षी दल और उनके समर्थक अपनी हार देख कर बौखला गए है। प्रशासन से मांग है की ऐसे अपराधियों को जल्द से जल्द चिन्हित कर उचित करवाई करे।

पशुपति कुमार पारस दो लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से जीते थे
बता दें कि इस बार लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) पांच सीटों पर चुनाव रही है। इनमें हाजीपुर, वैशाली, समस्तीपुर, खगड़िया और जमुई लोकसभा सीट शामिल हैं। पिछले चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी सात सीटों पर चुनाव लड़ी थी। सातों पर जीत मिली थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में हाजीपुर सीट से पशुपति कुमार पारस दो लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से जीते थे। हारने वाले यही शिवचंद्र राम थे। यह सीट दिवंगत रामविलास पासवान की थी और उनके बाद यहां से पशुपति कुमार पारस ने कमान संभाल रखी थी। इस बार चिराग पासवान ने अपना दावा ठोक दिया था। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने चिराग पासवान को यह सीट दे भी दी। पशुपति पारस ने पहले विद्रोह जरूर किया लेकिन बाद अपना समर्थन देने का दावा करते रहे। जमुई लोकसभा अपने जीजा अरुण भारती को सौंपने के बाद चिराग पासवान हाजीपुर सीट से चुनावी मैदान में उतरे। ताबड़तोड़ प्रचार-प्रसार किया। पीएम मोदी ने भी यहां चुनावी सभा की। जनता से चिराग के पक्ष में वोट देने की अपील की। चिराग का मुकाबला राजद प्रत्याशी शिवचंद्र राम से है। अब तक आए सभी एग्जिट पोल में चिराग पासवान के जीतने का अनुमान है। चार जून को स्पष्ट हो जाएगा कि मोदी के हनुमान के खाते में यह सीट आती या नहीं।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button