RO.NO.12784/141
खेल जगत

वर्धमान-दुर्गापुर से कीर्ति आजाद ने हासिल की बड़ी जीत, दिलीप घोष हारे

दुर्गापुर
 भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी कीर्ति आजाद ने राजनीति के मैदान पर अपनी नई पारी का आगाज किया है। दो बार बिहार के दरभंगा से सांसद रहे कीर्ति आजाद ने पश्चिम बंगाल के बर्धमान दुर्गापुर लोकसभा सीट पर भारी मतों से विजयी प्राप्त की है। कीर्ति आजाद ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के टिकट पर चुनावी मैदान पर उतरे थे। कीर्ति आजाद की टक्कर भारतीय जनता पार्टी के दिलीप घोष से थी। इस सीट पर दिलीप घोष की भी खूब लोकप्रियता थी।

दिलीप घोष के खिलाफ कीर्ति आजाद ने 720667 वोट हासिल किए। वहीं दिलीप घोष को 582686 मत मिले। इस तरह कीर्ति आजाद ने बीजेपी के उम्मीदवार को 137981 वोट के भारी अंतर से जीत हासिल की थी। इस सीट पर सीपीएम के सुकृति घोषाल तीसरे नंबर पर रहे।

1982 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य थे कीर्ति आजाद

कीर्ति आजाद कपिल देव की कप्तानी में 1983 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे हैं। क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद कीर्ति आजाद अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए राजनीति में दूसरी पारी की शुरुआत की। कीर्ति आजाद भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर दरभंगा से सांसद रहे। इसके बाद 2019 में वह कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे। कांग्रेस पार्टी से कीर्ति आजाद धनबाद लोकसभा सीट पर चुनावी मैदान में उतरे थे, लेकिन उन्हें जीत नहीं मिल पाई थी।

ऐसे में लोकसभा चुनाव 2024 में कांग्रेस को छोड़कर वह टीएमसी में शामिल हो गए। टीएमसी में उन्हें बर्धमान दुर्गापुर से टिकट मिला जहां उन्होंने एक लाख से अधिक वोट से जीत हासिल किए।

कैसा रहा है कीर्ति आजाद का करियर

कीर्ति आजाद का टीम इंडिया के लिए करियर कुछ खास बड़ा नहीं रहा है। वह भारत के लिए 7 टेस्ट और 25 वनडे मैचों में मैदान पर उतरे। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 135 रन और वनडे में 269 रन बनाए हैं। वहीं गेंदबाजी में उन्होंने टेस्ट में 3 और वनडे में 7 विकेट भी हासिल किए।

एक अन्य पूर्व क्रिकेटर और तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार गुजरात के यूसुफ पठान ने 5 बार के कांग्रेस सांसद और लोकसभा के निवर्तमान विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी पर पश्चिम बंगाल की बहरामपुर लोकसभा सीट पर 85 हजार से अधिक मतों की बढ़त बना रखी है.

यूसुफ जहां पहली बार राजनीति में भाग्य आजमा रहे हैं तो वहीं आजाद को राजनीति का अच्छा खासा अनुभव है और वह पहले भी सांसद रह चुके हैं.

भाला फेंक में दो बार के पैरालंपिक चैंपियन देवेंद्र झझारिया को हालांकि राजस्थान की चुरू लोकसभा सीट पर भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए कांग्रेस के राहुल कस्वान के खिलाफ 72,737 वोट से हार का सामना करना पड़ा.

दिग्गज हॉकी खिलाड़ी और हॉकी इंडिया के मौजूदा अध्यक्ष दिलीप टिर्की भी बीजू जनता दल की ओर से सुंदरगढ़ सीट पर चुनाव लड़ते हुए हार की कगार पर हैं. वह भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जुएल ओराम के खिलाफ 1,36,737 मतों से पीछे चल रहे हैं.

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button