RO NO. 12737/143
जिलेवार ख़बरें

CG budget 2024: जनता की अपेक्षाओं के खिलाफ घोर निराशाजनक बजट; सिर्फ खोखले दावे, कांग्रेस की प्रतिक्रिया

RO NO. 12710/141

रायपुर.

विष्णुदेव साय सरकार का पहला बजट आम जनता के अपेक्षा और उम्मीदों के विपरीत घोर निराशाजनक है। इसमें ना युवाओं के रोजगार के संदर्भ में कोई रोडमैप है और ना ही महंगाई से निपटने कोई ठोस रणनीति। बीजपी ने चुनाव के समय एक लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का वादा था, लेकिन बजट में नई नौकरियों के लिए कोई प्रावधान ही नहीं हैं। कॉलेज जाने वाले छात्रों से यात्रा भत्ता देने का वादा किया था पर इसके लिए बजट का प्रावधान नहीं है। ये बातें प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दीपक बैज ने कहीं।

उन्होंने कहा कि 500 रुपए में गैस सिलेंडर देने का वादा करने वाले भाजपाई गैस सब्सिडी के लिए एक रुपए का भी बजट प्रावधान नहीं कर पाए हैं। बजट 1 साल के लिए होता है, लेकिन झांसा 2047 तक का? छत्तीसगढ़ में प्रस्तुत आज का बजट अभिभाषण पूरी तरह से भाजपा के चुनावी जुमलो की तरह ही था। झूठ और लफ्फाजी के कसीदे पढ़े गए। मोदी की चरण वंदना में समर्पित इस बजट में छत्तीसगढ़ के प्रति केंद्र सरकार की अपेक्षा और भेदभाव का कोई जिक्र नहीं था। केंद्रीय करों में रोके गए राज्य की हिस्सेदारी और कोल की रायल्टी के पेनल्टी का पैसा वर्षों से लंबित है उस पर एक शब्द भी नहीं बोल पाए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के द्वारा प्रस्तुत पिछले बजट में छत्तीसगढ़ में चार-चार नए मेडिकल कॉलेज खोलने की व्यवस्था दी गई थी। इस बजट में एक भी नया मेडिकल कॉलेज या इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का प्रावधान नहीं है। 25 लाख तक विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना संचालित थी, हमर अस्पताल, हमार लैब, हाट बाजार क्लिनिक, मोहल्ला क्लीनिक, स्लम स्वास्थ्य चिकित्सा योजना संचालित थी। पिछले बजट में 19488 करोड़ का प्रावधान शिक्षा के लिए रखा गया था जो कुल बजट का 19.4 प्रतिशत था इस बजट में यह राशि घटाकर 15.95 प्रतिशत कर दिया गया है।

बजट से साफ साय सरकार की प्राथमिकता में शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि नहीं
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि बजट से भाजपा की बदनीयती सामने आई है। मोदी की गारंटी के नाम पर छत्तीसगढ़ की बहन बेटियों को एक बार फिर छला गया। इस बजट में महतारी वंदन योजना के अंतर्गत पूरे 1 वर्ष के लिए कुल बजट प्रावधान मात्र 3000 करोड़ रुपया अर्थात ढाई सौ करोड़ रूपए महीना? प्रदेश में कुल महिला मतदाताओं की संख्या लगभग एक करोड चार लाख है। भारतीय जनता पार्टी के साय सरकार की ओर से किए गए बजट प्रावधान से मात्र 25 लाख महिलाओं को ही 1000 रुपया महीना दिया जा सकेगा। यानी भारतीय जनता पार्टी की विष्णुदेव साय सरकार की मंशा प्रदेश के लगभग 80 लाख महिलाओं को महतारी वंदन योजना से बाहर रखने का है। बजट के अनुसार तो 25 लाख महिलाओं को महतारी वंदन योजना के तहत 1000 रूपया महिना मिल सकता है, लेकिन जिस प्रकार से साय सरकार षडयंत्र पूर्वक शर्ते लाद रही है। उससे लगता है कि 20 प्रतिशत महिलाओं को भी लाभ देने की इनकी नीयत नहीं है। बजट से साफ साय सरकार की प्राथमिकता में शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि नहीं। विष्णुदेव सरकार का पहला बजट जनता को निराश करने वाला है।

'बजट पूरी तरह फ्लॉप शो और जुमलो का बजट’
 छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अजय गंगवानी ने कहा कि बजट पूरी तरह निराश और हताश है। यह बजट उनकी आशाओं के ठीक विपरीत है। आरोप लगाया कि यह बजट पूरी तरह से फ्लॉप शो और जुमलों का बजट साबित हुआ है। वित्त मंत्री ओपी चौधरी जी ने इस बजट में पांच सालों में  जीएसडीपी 5 लाख से बढ़कर 10 लाख करोड़ करने का दावा किया है , लेकिन इसके लिए वर्तमान विष्णु देव साय जी की सरकार की क्या कार्य योजना होगी? क्या रोड मैप और ब्लूप्रिंट होगा? इसका कोई उल्लेख नहीं किया गया? भाजपा सरकार की यह घोषणा भी सबके खातों में 15-15 लाख, और 5 ट्रिलियन इकोनामी की तरह ही भविष्य में जुमले बाजी साबित होगी। छत्तीसगढ़ की आम जनता को 500 रूपए में सिलेंडर देने का वादा और छत्तीसगढ़ के युवाओं को एक लाख रोजगार देने का वादा इस बजट में फिर एक बार जुमला साबित हुआ।

'ना कोई विजन ना नया कार्यक्रम'
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि बजट से साय सरकार का जन विरोधी षड्यंत्र एक बार फिर उजागर हुआ है। इस बजट में ना कोई नया कार्यक्रम है न ही कोई विजन बल्कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा चलाए जा रहे जनकल्याणकारी कार्यक्रमों को सतत जारी रखने में साय सरकार संसय की स्थिति में नज़र आ रही है। आम जनता के हित से भारतीय जनता पार्टी का कोई सरोकार नहीं है। सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि साय सरकार के वित्त मंत्री ने एक तरफ कर्ज को लेकर पूर्ववर्ती सरकार पर अनर्गल आरोप लगाए दूसरी तरफ कुल कर्ज़ आरबीआई की ओर से एफआरबीएम एक्ट के तहत तय सीमा के भीतर रखनें के पूर्ववर्ती सरकार की उपलब्धियों पर अपनी पीठ खुद ही थपथाये, झूठा श्रेय लेने का कुत्सित प्रयास किया है।

'जनता को पता चल गया डबल इंजन कंडम हैं'
प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने आरोप लगाते हुए कहा कि साय सरकार की पहले बजट में ही प्रदेश की जनता को पता चल गया की डबल इंजन की सरकार कंडम हो गई है। मोदी की गारंटी का ढोल पीटने वाली सरकार की पोल खुल गई है। बीपीएल परिवार में कन्या रत्न प्राप्त होने पर डेढ़ लाख रुपए देने का वादा किया गया था, पंचायत स्तर पर डेढ़ लाख बेरोजगार युवाओं की भर्ती, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 4500 रुपए बोनस, इन्नोवेशन हब बनाकर 6 लाख रोजगार, कॉलेज जाने हेतु छात्रों को मासिक ट्रेवल्स अलाउंस, 500 जन औषधि केंद्र खोलने, 500रु में प्रति घर गैस सिलेंडर पहुंचाने, 100000 सरकारी पदों पर भर्ती के लिए बजट में कोई प्रावधान नहीं किया गया हैं। शासकीय कर्मचारियों को लेकर भी उनके मानदेय बढ़ाने या उनकी सुविधा में वृद्धि करने का कोई व्यवस्था नहीं है। इस बजट से मोदी की गारंटी की हवा खुल गईं। नये उद्यमी, व्यवसायीयों के बेहतर व्यवस्थापन की कोई कार्य योजना नहीं है। डबल इंजन की सरकार सिर्फ वादा खिलाफी करती है। जनता से किये वादा को पूरा करने की क्षमता इनमें नहीं है। एक बार और प्रदेश की जनता को भाजपा ने छल करके ठगा है।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO NO. 12737/143

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button