RO NO.12737/143
व्यापार जगत

लहसुन का दाम पहुंचा 600 रुपए किलो! घर का बजट बिगाड़ रहा

RO NO. 12710/141

भोपाल /इंदौर
लहसुन की कीमतें आसमान छू रही है. खुदरा बाजार में लहसुन की कीमत 600 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई है. आम तौर पर 150 से 200 रुपये किलो बिकने वाला लहसुन आम जनता की जेब पर बोझ बढ़ा रहा है. लहसुन की कीमतों में आई तेजी के चलते लोगों के किचन का बजट बिगड़ रहा है.

लहसुन की आसमान छूती कीमत
देश के अधिकांश शहरों में लहसुन की कीमत में तेजी आई है. दिल्ली, लखनऊ, भोपाल, पटना समेत देश के अधिकतर शहरों में लहसुन की कीमत  400 से 600 रुपये किलो बिक रही है. जो लहसुन 15 दिन पहले 200 रुपये किलो बिक रहा था, उसकी कीमत कम होने के बजाए बढ़ रही है. वेस्ट बंगाल वेंडर एसोसिएसन के मुताबिक जनवरी में लहसुन की कीमत 200 रुपये किलो के करीब थी, जो अब 500 को पार कर चुकी है.

क्यों बढ़ रहे लहसुन के दाम ?
नए फसल के आने में हुई देरी और उपज में कमी के चलते लहसुन की कीमत में तेजी आई है. बदलते मौसम ने लहसुन के फसलों को नुकसान पहुंचाया है. अचानक भारी बारिश होने के कारण भी फसलों को काफी नुकसान हुआ. फसल खराब हो जाने की वजह से आवक में कमी आई है. स्टॉक की कमी कीमत बढ़ते की बड़ी वजह है. वहीं लोग मुनाफावसूली को भी कीमत बढ़ने की वजह बता रहे हैं.  फसल खराब होने के चलते दूसरी फसल की रोपाई में वक्त लगा. इन सब कारणों से लहसुन की कीमत बढ़ रही है.

कब कम होंगे लहसुन की कीमत ?  

थोक व्यापारियों की माने तो मौसम की मार के चलते काफी फसल खराब हुई. जिस वजह से कीमत बढ़ी है. नई फसल के आने से कीमत कम होगी. जैसे-जैसे बाजार में लहसुन की नई फसल आएगी, लहसुन की कीमतों में कमी आएगी. माना जा रहा है कि फरवरी के महीने में लहसुन की कीमतों के कम हो सकती है.  

सब्जी में तड़का हुआ महंगा, बिना लहसून खरीदे लौट रहे ग्राहक

देश में बाकि सब्जियों जैसे आलू-प्याज के दाम (Onion-Potato Price) भले ही कम हुए हैं, लेकिन सब्जी में तड़का अब महंगा हो गया है। खबरों के मुताबिक हमीरपुर के एक सब्जी विक्रेता ने जानकारी देते हुए बताया कि लहसून की कीमतों में उछाल मौसम की मार का असर है, जिससे मांग के अनुरूप सप्लाई न आने से कीमतें बढ़ी है और थोक मंडी से ही लहसुन 400 के पार खरीदा जा रहा है। इसलिए फुटकर मंडी में लहसुन 480 रूपये किलो तक बेचना मजबूरी हो गई है। वहीं एक खरीददार मुकेश कुमार ने बताया कि जब वह सब्जी खरीदने गए तो लहसुन 480 रूपये किलो बिक रहा था इसलिए वो बिना लहसुन खरीदे ही वापस घर लौट आया।

नया लहसून आने तक कीमत में जारी रहेगा उछाल

थोक मंडी के एक आढ़ती ने भी बताया कि पिछले महीने से ही लहसुन की कीमतें बढ़ना शुरू हो गई थी, जो अब अपने चरम पर है। फिलहाल नया लहसून आने तक इसकी कीमत घटने की कोई उम्मीद नहीं है। लेकिन फिर भी आने वाले कुछ महीनों में जल्द ही लहसून की कीमतों में बदलाव भी देखा जा सकेगा। जिससे आम आदमी फिर से लहसून खरीब पाए।

किचन का बजट बिगड़ा
वहीं,सब्जी मंडी पहुंचे मोहन ठाकुर का कहना है कि इस बार तो लहसुन के दाम चिकन से भी दुगने हो गए हैं. ऐसे में लहसुन खरीद पाना आम लोगों के बस की बात नहीं है. भानु चौधरी ने कहा कि ड्राई फ्रूट के दाम पर लहसुन बिक रहा है, जिसने किचन का बजट बिगाड़ दिया. उन्होंने कहा कि बढ़ते दामों को लेकर सरकार और प्रशासन को भी कोई कदम उठाना चाहिए.

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO NO.12737/143

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button