RO NO. 12737/143
राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

ब्राजील ने डेंगू के खिलाफ सामूहिक टीकाकरण अभियान शुरू किया

RO NO. 12737/143

ब्रासीलिया

 ब्राजील ने संघीय जिले में डेंगू बुखार के खिलाफ अपना टीकाकरण अभियान शुरू किया। अभियान में देश भर में प्राथमिकताओं के रूप में पहचाने गए 521 नगर पालिकाओं को लक्षित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने कहा कि ब्राजील सार्वजनिक स्वास्थ्य नेटवर्क में डेंगू टीकाकरण को शामिल करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है और 2024 में 60 लाख 50 हजार उपलब्ध खुराक की प्राप्ति के साथ स्वास्थ्य मंत्रालय संपूर्ण लक्षित जनता के लिए टीकाकरण सुनिश्चित करेगा।

स्वास्थ्य निगरानी और पर्यावरण मंत्री एथेल मैसील ने कहा कि प्राथमिकता वाली नगर पालिकाओं को मार्च के अंत तक 10 से 11 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए वैक्सीन की पहली खुराक प्राप्त होगी। संक्रमित व्यक्तियों में चेतावनी के संकेतों में लगातार उल्टी और पेट में दर्द शामिल है। अधिकारियों ने ऐसे मामलों में तत्काल चिकित्सा सहायता लेने की सलाह दी हैं।

 

डेंगू बुखार एक कष्टदायक, शरीर को दुर्बल करने वाला मच्छर जनित रोग है और जो लोग दूसरी बार डेंगू वायरस से संक्रमित हो जाते हैं उनमें गंभीर बीमारी विकसित होने का काफी अधिक जोखिम होता है। डेंगू बुखार के लक्षणों में तेज बुखार, शरीर पर दाने, सिरदर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द शामिल हैं। कुछ गंभीर मामलों में रक्तस्राव और सदमा होता है, जो जीवन के लिए खतरा हो सकता है।

डेंगू बुखार के कारण

डेंगू बुखार चार निकट संबंधी डेंगू विषाणुओं में से किसी एक के कारण होता है। ये विषाणु उन विषाणुओं से संबंधित हैं जो वेस्ट नाइल संक्रमण और पीत ज्वर का कारण बनते हैं।

संक्रमित व्यक्ति के आसपास रहने से आपको डेंगू बुखार नहीं हो सकता; इसके बजाय, डेंगू बुखार मच्छर के काटने से फैलता है। जब संक्रमित मच्छर किसी अन्य व्यक्ति को काटता है, तो वायरस उस व्यक्ति के रक्तप्रवाह में प्रवेश कर जाता है और संक्रमण का कारण बनता है।

डेंगू बुखार से ठीक होने के बाद, आपको संक्रमित करने वाले वायरस के प्रति दीर्घकालिक प्रतिरक्षा होती है – लेकिन अन्य तीन डेंगू बुखार वायरस प्रकारों के लिए नहीं। इसका मतलब है कि आप भविष्य में अन्य तीन वायरस प्रकारों में से किसी एक से फिर से संक्रमित हो सकते हैं। अगर आपको दूसरी, तीसरी या चौथी बार डेंगू बुखार होता है तो गंभीर डेंगू बुखार होने का खतरा बढ़ जाता है।

डेंगू बुखार के लक्षण

डेंगू बुखार के लक्षण, जो आमतौर पर संक्रमण के चार से छह दिन बाद शुरू होते हैं और 10 दिनों तक रहते हैं, इसमें शामिल हो सकते हैं:

    अचानक तेज बुखार (105 डिग्री)
    गंभीर सिरदर्द
    आँखों के पीछे दर्द
    गंभीर जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द
    थकान
    जी मिचलाना
    उल्टी आना
    दस्त होना
    त्वचा पर लाल चकत्ते, जो बुखार आने के दो से पांच दिन बाद दिखाई देते हैं
    हल्का रक्तस्राव (जैसे नाक से खून बहना, मसूड़ों से खून आना, या आसान चोट लगना)

कभी-कभी, डेंगू बुखार के लक्षण हल्के होते हैं और यह फ्लू या अन्य वायरल संक्रमण के लक्षण हो सकते हैं। छोटे बच्चों और जिन लोगों को पहले कभी संक्रमण नहीं हुआ है, उनमें बड़े बच्चों और वयस्कों की तुलना में हल्के मामले होते हैं। हालांकि, उनमें गंभीर समस्याएं विकसित हो सकती हैं। इनमें डेंगू रक्तस्रावी बुखार, तेज बुखार, लसीका और रक्त वाहिकाओं को नुकसान, नाक और मसूड़ों से खून बहना, यकृत का बढ़ना (लिवर बढ़ना) और परिसंचरण तंत्र या वाहिकातंत्र (circulatory system) की विफलता जैसी दुर्लभ जटिलता शामिल है। लक्षण बड़े पैमाने पर रक्तस्राव, सदमा और मृत्यु में बदल सकते हैं। इसे डेंगू शॉक सिंड्रोम (DSS) कहा जाता है।

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों और दूसरी बार या बार-बार हो रहे डेंगू के संक्रमण वाले लोगों को डेंगू रक्तस्रावी बुखार विकसित होने का अधिक खतरा माना जाता है।

गंभीर डेंगू बुखार तब होता है जब आपकी रक्त वाहिकाएं क्षतिग्रस्त हो जाती हैं और उनमें रिसाव होने लगता है। और आपके रक्तप्रवाह में थक्का बनाने वाली कोशिकाओं (प्लेटलेट्स) की संख्या कम हो जाती है। इससे आघात, आंतरिक रक्तस्राव, अंग विफलता और यहां तक ​​कि मृत्यु भी हो सकती है।

गंभीर डेंगू बुखार के चेतावनी संकेत, जो कि जीवन की आपातकालीन स्थिति है जो जल्दी से विकसित हो सकती है। चेतावनी के संकेत आमतौर पर आपके बुखार के जाने के पहले या दो दिन बाद शुरू होते हैं, और जिनमें निम्नलिखित संकेत और लक्षण शामिल हो सकते हैं:

    गंभीर पेट दर्द होना
    लगातार उल्टी होना
    मसूड़ों या नाक से खून आना
    मूत्र, मल या उल्टी में रक्त आना
    त्वचा के नीचे रक्तस्राव, जो खरोंच जैसा लग सकता है
    सांस लेने में कठिनाई होना (मुश्किल या तेजी-तेजी सांस लेना)
    थकान आना
    चिड़चिड़ापन या बेचैनी होना

यदि आपने हाल ही में किसी ऐसे क्षेत्र का दौरा किया है जहां पर डेंगू बुखार से पीड़ित लोग थे। यदि आपको बुखार हो गया है और आप किसी भी उपर्युक्त चेतावनी के लक्षण से ग्रसित हैं, तो तत्काल चिकित्सक से परामर्श लें ।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO NO. 12737/143

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button