RO NO. 12737/143
व्यापार जगत

यथार्थ हॉस्पिटल ने एशियन फिदेलिस हॉस्पिटल का 116 करोड़ रुपये में किया अधिग्रहण

RO NO. 12737/143
  • यथार्थ हॉस्पिटल ने एशियन फिदेलिस हॉस्पिटल का 116 करोड़ रुपये में किया अधिग्रहण
  • सिग्नेचर ग्लोबल विस्तार योजना के तहत गुरुग्राम में विकसित करेगी आवासीय परियोजना
  • एसजीबी की नई सीरीज खुली, मार्केट रेट से सस्ता सोना खरीदने का मौका

नई दिल्ली
यथार्थ हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा केयर सर्विसेज ने फरीदाबाद स्थित एशियन फिदेलिस हॉस्पिटल का 116 करोड़ रुपये में अधिग्रहण कर लिया है।

स्वास्थ्य सेवा प्रदाता ने बताया कि उसने खरीद के लिए प्रिस्टिन इंफ्राकॉन प्राइवेट लिमिटेड और उसके शेयरधारकों के साथ निश्चित समझौता किया है।

वर्तमान में वह एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) में तीन सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल संचालित करता है।

यथार्थ अस्पताल के पूर्णकालिक निदेशक यथार्थ त्यागी ने सोमवार को जारी बयान में कहा, ‘‘यह अधिग्रहण हमारी कंपनी की उत्तर भारत क्षेत्र में अपनी पहुंच बढ़ाने की रणनीति के अनुरूप है।''

स्वास्थ्य सेवा प्रदाता वर्तमान में नोएडा, ग्रेटर नोएडा और नोएडा एक्सटेंशन में अस्पताल संचालित करता है।

एशियन फिदेलिस अस्पताल में 175 बिस्तरों की क्षमता है, जिसे 200 बिस्तरों तक बढ़ाया जा सकता है।

यथार्थ अस्पताल का चालू वित्त वर्ष 2023-24 की तीसरी (दिसंबर-अक्टूबर) तिमाही में शुद्ध लाभ सालाना आधार पर 38 प्रतिशत बढ़कर 29.5 करोड़ रुपये रहा। इस अवधि में परिचालन आय भी बढ़कर 167 करोड़ रुपये हो गई।

सिग्नेचर ग्लोबल विस्तार योजना के तहत गुरुग्राम में विकसित करेगी आवासीय परियोजना

नई दिल्ली
रियल एस्टेट कंपनी सिग्नेचर ग्लोबल ने अपनी विस्तार योजना के तहत गुरुग्राम में 20 एकड़ भूमि पर आवासीय परियोजना विकसित करने के लिए जमींदारों के साथ साझेदारी की है।

इससे 4,500 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल होने की उम्मीद है।

सिग्नेचर ग्लोबल ने गुरुग्राम के सेक्टर-71 में 20.32 एकड़ भूमि के लिए संयुक्त विकास समझौता (जेडीए) किया है।

सिग्नेचर ग्लोबल के चेयरमैन प्रदीप अग्रवाल ने कहा कि इस आगामी परियोजना में करीब 4,500 करोड़ रुपये की संभावित बिक्री होगी।

कोविड-19 वैश्विक महामारी के बाद आवासीय मांग में वृद्धि के साथ, रियल एस्टेट डेवलपर्स अपने व्यवसाय का विस्तार करने के लिए जमीन का अधिग्रहण करने के साथ-साथ जमींदारों के साथ भी साझेदारी कर रहे हैं।

इस महीने की शुरुआत में सिग्नेचर ग्लोबल ने कुल 21.38 एकड़ भूखंड पर आवासीय परियोजनाएं विकसित करने के लिए जमींदारों के साथ तीन अलग-अलग जेडीए पर हस्ताक्षर करने की घोषणा की थी।

सिग्नेचर ग्लोबल का 2023 अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 2.17 करोड़ रुपये रहा था, जबकि 2022 की समान अवधि में उसे 44.89 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

एसजीबी की नई सीरीज आज से खुली, मार्केट रेट से सस्ता सोना खरीदने का मौका

-6,213 रुपये प्रति ग्राम के भाव पर खरीद सकते हैं सोना

नई दिल्ली
 सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (एसजीबी) स्कीम 2023-24 सीरीज 4 को  निवेश के लिए खोल दिया गया है। केंद्र सरकार ने एसजीबी स्कीम के तहत इस सीरीज के लिए सोने की कीमत 6,263 रुपये प्रति ग्राम तय की है। निवेशक अगले शुक्रवार यानी 16 फरवरी तक इस स्कीम के तहत निवेश कर सकेंगे। हालांकि ऑनलाइन पेमेंट करने पर निवेशक और भी कम कीमत पर सोने में निवेश कर सकते हैं।

इस संबंध में उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक पहले की तरह ही इस बार भी ऑनलाइन पेमेंट करने पर निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट मिलेगी। इस तरह ऑनलाइन पेमेंट करने पर निवेशक 6,213 रुपये प्रति ग्राम के भाव पर इस स्कीम में निवेश कर सकेंगे। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत किए जाने वाले निवेश पर जीएसटी नहीं लगता है, जिसके कारण निवेशकों को मार्केट रेट से कम कीमत पर सोने में निवेश करने का मौका मिलता है।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने 2015 के नवंबर में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की शुरुआत की थी। दो महीने पहले ही सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की पहली सीरीज की मैच्योरिटी हुई थी, जिसमें निवेशकों को करीब ढाई गुना का मुनाफा हुआ था। इस स्कीम के तहत भारतीय रिजर्व बैंक केंद्र सरकार की ओर से सोने में निवेश के लिए ऑनलाइन बॉन्ड जारी करता है। इस तरह इस स्कीम में निवेश किए गए पैसे की सुरक्षा की गारंटी खुद भारत सरकार देती है। स्कीम के तहत किए गए निवेश पर सालाना 2.5 प्रतिशत का ब्याज दिया जाता है। ब्याज का ये पैसा हर 6 महीने में निवेशकों के बैंक अकाउंट में जमा होता है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत किए गए निवेश की अवधि 8 साल की होती है। 8 साल पूरा होने के बाद मार्केट रेट के मुताबिक निवेशकों को उनका पैसा वापस किया जाता है। हालांकि निवेश करने के बाद 5 साल की अवधि पूरा होने के बाद भी निवेशक अपना पैसा निकाल सकते हैं। इसके अलावा स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग के जरिए भी निवेशक अपना पैसा निकाल सकते हैं।

इस स्कीम के तहत सोने की कीमत सब्सक्रिप्शन शुरू होने की तारीख के पहले के तीन कारोबारी दिनों के दौरान सोने के भाव के औसत के आधार पर तय की जाती है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को सभी शेड्यूल्ड कॉमर्शियल बैंक, स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, डेजिग्नेटेड पोस्ट ऑफिस और क्लीयरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के साथ ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज से भी लिया जा सकता है। हालांकि शेड्यूल्ड कॉमर्शियल बैंकों में स्मॉल फाइनेंस बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और पेमेंट बैंक को शामिल नहीं किया गया है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत निवेश के संबंध में भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से जारी गाइडलाइन के मुताबिक कोई भी व्यक्ति व्यक्तिगत तौर पर 1 ग्राम से लेकर 4 किलोग्राम तक सोने के बॉन्ड में निवेश कर सकता है। वही ट्रस्ट के नाम पर अधिकतम 20 किलोग्राम सोने के बंद में निवेश किया जा सकता है।

 

 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

RO NO. 12737/143

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button