स्वास्थ्य

भिंडी के सेवन से होने वाले चमत्कारिक स्वास्थ्य फायदे

भिंडी को आमतौर पर सब्जी के रूप में ही पका कर खाया जाता है, लेकिन इसके बीजों में कुछ ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिसका सेवन कच्चे रूप में पानी के साथ 24 घंटे भिगोकर किया जाए तो शरीर को कई जबरदस्त फायदे मिल सकते हैं. 

भिंडी के पानी में कौन-से पोषक तत्व होते हैं? यूएसडीए के डेटा के अनुसार, भिंडी प्रोटीन, फाइबर, मैगनीज, विटामिन सी, मैग्नीशियम, विटामिन बी6, कॉपर का एक बेहतरीन सोर्स है. हालांकि, भिंडी के पानी में भी इन पोषक तत्वों की समान मात्रा होती है इसके लिए कोई अभी अधिक शोध की आवश्यकता है, लेकिन भिंडी अपने आप में मैंगनीज और विटामिन सी का एक बड़ा सोर्स है, जो मेटाबोलिज्म और शुगर को रेगुलेशन में मददगार होते हैं. प्लांट कॉम्पोनेंट और हाइड्रेटिंग इफेक्ट्स के कारण भिंडी के पानी को सेहतमंद माना जा सकता है. 

ऐसे तैयार करें भिंडी का पानी

4-5 मीडियम साइज भिंडी को काटें और इसे एक कप पानी में भिगोकर रख दें. 8-24 घंटे इसे ऐसे ही छोड़ने के बाद इसे निचोड़ लें. इसके बाद इसे गिलास में छानकर इसका सेवन करें. स्वाद के लिए आप इसमें हल्का नमक और काली मिर्च का पाउडर भी छिड़क सकते हैं.

भिंडी का पानी पीने के फायदे –

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

भिंडी क्वेरसेटिन और केम्पफेरोल जैसे एंटीऑक्सीडेंट का एक बड़ा स्रोत होता है. ये यौगिक सूजन को कम करने और फ्री रेडिकल्स को बेअसर करने के लिए जाने जाते हैं. इसके अलावा, एंटीऑक्सीडेंट डायबिटीज, कैंसर और हृदय रोग समेत कई क्रोनिक बीमारियों से बचा सकता है. 

वेट लॉस में फायदेमंद 

NCBI में प्रकाशित चूहे पर की गयी एक स्टडी से पता चलता है कि भिंडी के सेवन से वेट लॉस, ब्लड शुगर लेवल और टोटल कोलेस्ट्रॉल में कमी होती है. 

ब्लड शुगर मैनेजमेंट आसान

भिंडी का पानी पीने से ब्लड शुगर का लेवल कंट्रोल रखने में मदद मिलती है. ऐसा इसमें मौजूद  पॉलीफेनोल और फ्लेवोनोइड कंपाउंड के कारण होता है जो हाई ब्लड शुगर को कम रखने में अहम भूमिका निभाते हैं.

सुबह पीने इसलिए जरूरी 

भिंडी का पानी को सुबह खाली पेट पीने की सलाह इसलिए दी जाती है, ताकि शरीर को इसका ज्यादा फायदा मिल सके. बेहतर परिणाम के लिए भिंडी के पानी को फलों, सब्जियों, साबुत अनाज और फलियों जैसे पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों से भरपूर आहार के साथ पीना चाहिए. 
 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button