राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

‘पाकिस्तान आंख दिखाएगा तो मैप पर नहीं दिखेगा’, मणिशंकर अय्यर के बयान पर गिरिराज सिंह की नसीहत

नई दिल्ली.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर का पाकिस्तान को लेकर दिए गए बयान पर विवाद हो गया है. बीजेपी ने अय्यर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस पर सवाल खड़े कर दिए हैं. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मणिशंकर अय्यर के बयान पर कहा कि राहुल गांधी माफी मांगें. अय्यर पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं. ये कांग्रेस के दोगले लोग हैं. भारत ताकतवर है. अगर पाकिस्तान आंख दिखाएगा तो मैप पर दिखाई नहीं देगा. कांग्रेस के लोग आतंकवादियों की भाषा बोलते हैं.

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी अय्यर के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि ये कांग्रेस का डर और खौफ है. ये पाकिस्तान प्रेम है. कांग्रेस के नेता रहते तो भारत में है लेकिन दिल पाकिस्तान में है. पाकिस्तान में कोई दम नहीं है. भारत को पता है कैसे पाकिस्तान को सही करना है. वहीं, केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने मणिशंकर अय्यर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इन चुनावों में राहुल गांधी की कांग्रेस की विचारधारा पूरी तरह से साफ हो गई है. पाकिस्तान का समर्थन करो. आतंक से जुड़े संगठनों का समर्थन करो. बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार और पैसों की लूट को अंजाम दो. सैम पित्रोदा की नस्लभेदी और विभाजनकारी टिप्पणियां जगजाहिर हैं. मुस्लिम समुदाय का तुष्टिकरण. चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से गठजोड़ और आज कांग्रेस के मणिशंकर अय्यर का एपिसोड.

बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि मणिशंकर पाकिस्तान के सम्मान की बात करते हुए कह रहे हैं कि पाकिस्तान के पास परमाणु बम हैं. भारत को डरना चाहिए. मैं उनके इस बयान की कड़ी निंदा करता हूं. ये तुष्टिकरण की राजनीति के लिए किया जा रहा है. ऐसा भारत में रह रहे एक विशेष वर्ग के वोटों के लिए किया जा रहा है. बीजेपी सांसद रवि किशन ने भी कहा कि पाकिस्तान तो कटोरा लिए खाना जुटा रहा है. अय्यर को अपना इलाज करवाना चाहिए. ये मोदी का भारत है. कांग्रेस के समय का भारत नहीं है. मोदी का फोटो देखते ही पाकिस्तान के लोगों को मिर्गी आने लगती है. बीजेपी विधायक राजा सिंह ने कहा कि मणिशंकर अय्यर को कहना चाहूंगा कि ये पाकिस्तान का जमाना नहीं है, जो हर बार पाकिस्तान से डरकर रहने का. ये मोदी का जमाना है और मोदी जी बोलते नहीं ठोकते हैं. हमारे भारत में भी पाकिस्तान से बड़े-बड़े एटम बम हैं, जो दीवाली में फोड़ने के लिए नहीं है. अगर पाकिस्तान एटम बम का उपयोग करने की भी सोचेगा तो रातोरात मिट जाएगा. ये मोदी का राज है. ये भगवा राज है, जो भी आतंकवादी देश अगर भारत की तरफ आंख उठाकर देखेगा तो उसका नामोनिशान मिटाने वाला देश है. ये मोदी का देश है. वहीं, उत्तर पश्चिमी दिल्ली से कांग्रेस के उम्मीदवार उदित राज ने अय्यर के बयान पर कहा कि मणिशंकर का बयान व्यक्तिगत है. ये कांग्रेस का बयान नहीं है. कांग्रेस अय्यर के बयान का समर्थन नहीं करती है.
क्या कहा था मणिशंकर अय्यर ने?
मणिशंकर अय्यर ने एक इंटरव्यू में कहा था कि भारत को पाकिस्तान की इज्जत करनी चाहिए क्योंकि पड़ोसी मुल्क के पास परमाणु बम हैं.  अगर हम उन्हें इज्जत नहीं देंगे तो वे भारत पर परमाणु हमला करने की सोच सकते हैं. अय्यर ने कहा कि भारत को ये नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के पास भी परमाणु हैं. मुझे ये समझ नहीं आता कि मौजूदा सरकार ये क्यों कहती है कि हम पाकिस्तान से बात नहीं करेंगे क्योंकि वहां आतंकवाद है. ये समझना जरूरी है कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए चर्चा बहुत जरूरी है. वरना, पाकिस्तान सोचेगा कि भारत अहंकार के साथ हमें दुनिया में छोटा दिखा रहा है. ऐसे में पाकिस्तान में कोई भी पागल इन बम का इस्तेमाल कर सकता है. उन्होंने चेताते हुए कहा था कि उनके पास परमाणु बम हैं. हमारे पास भी हैं लेकिन क्या होगा अगर कोई पागल लाहौर में ये बम गिराने का फैसला कर ले. इस रेडिएशन को अमृतसर पहुंचने में आठ सेकंड भी नहीं लगेंगे. अगर हम उनकी इज्जत करेंगे तो वे शांत बने रहेंगे लेकिन अगर हम उन्हें छोटा दिखाते रहेंगे तो कोई पागल आएगा और बम गिरा देगा.
'पाकिस्तान भी संप्रभु राष्ट्र है'
कांग्रेस नेता का कहना है कि मैं ये नहीं कह रहा हूं कि हमें ये सोचें कि हमारी समस्याओं का हल कैसे निकलेगा? ये काम विशेषज्ञों का है. मेरा बस इतना कहना है कि घृणा दिखाकर या बंदूक दिखाकर आप स्थितियों में सुधार नहीं कर सकते. हमें ये समझना होगा कि पाकिस्तान भी एक संप्रभु राष्ट्र है, उनकी भी इज्जत है. हमें उनकी इज्जत को कायम रखते हुए कड़ी से कड़ी बात करनी चाहिए. अब क्या हो रहा है? हम बातचीत नहीं कर रहे हैं, इससे तनाव बढ़ता जा रहा है. अय्यर ने कहा कि हमने भारत और पाकिस्तान के संबंधों को मजबूती देने में बहुत मेहनत की है. लेकिन बीते 10 साल से सारी बातचीत बंद है. हमें मसल्स (ताकत) तब दिखाने चाहिए, जब सामने वाले के पास मसल्स ना हो. उनके मसल्स रावलपिंडी के कहुटा में पड़े हैं. अगर गलतफहमी फैल जाएगी तो बहुत दिक्कत होगी. उन्होंने कहा कि राजीव गांधी ने पाकिस्तान के साथ जंग होने की आशंका के बीच अमन का रास्ता निकाला था. लेकिन आज के समय में पाकिस्तान के साथ अमन की संभावनाएं हैं लेकिन मोदी जी जंग का रास्ता खोज निकाल रहे हैं. इससे पहले इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर रहते हुए सैम पित्रोदा ने भारत के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले लोगों की विवादित रूप से तुलना की थी.

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button