राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

मालदीव ने तीन मंत्रियों द्वारा PM मोदी की आलोचना पर मानी गलती! विदेश मंत्री मूसा ने ‘ऐसा दोबारा नहीं’ होने का दिया भरोसा

माले.

मालदीव के विदेश मंत्री मूसा जमीर (Moosa Zameer) का भारत दौरा चर्चा में बना हुआ है. इस दौरे पर उन्होंने विदेश मंत्री एस जयशंकर से द्विपक्षीय मामलों पर मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मालदीव के तीन मंत्रियों की ओर से की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों पर भी सफाई दी. मालदीव के विदेश मंत्री मूसा जमीर ने इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ की आपत्तिजनक टिप्पणियों को लेकर कहा कि आपने देखा होगा कि हमने तभी कहा था कि ये सरकार का रुख नहीं है और हमारा मानना था कि ऐसा नहीं होना चाहिए था. सोशल मीडिया पर इसे लेकर गलतफहमी फैलाई गई.

मालदीव और भारत की सरकारें समझती हैं कि क्या हुआ था और अब हम उससे काफी आगे बढ़ गए हैं. मूसा जमीर ने हमारी सरकार ये सुनिश्चित करेगी कि ऐसी गलती भविष्य में दोबारा नहीं हो. बता दें कि इस साल जनवरी में मालदीव के तीन मंत्रियों ने पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की थी, जिसके बाद दोनों देशों के बीच संबंधों में तल्खी आ गई थी. हालांकि, इन तीनों मत्रियों को मालदीव सरकार ने सस्पेंड कर दिया था. इससे पहले मालदीव के पर्यटन मंत्री ने भारतीय पर्यटकों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में मालदीव आने को कहा था.

मालदीव के पर्यटन मंत्री ने क्या कहा था?
मालदीव के पर्यटन मंत्री इब्राहिम फैजल ने हाल ही में कहा था कि हमारी सरकार भारत के साथ मिलकर काम करना चाहती है. हमारे लोग और हमारी सरकार मालदीव आने वाले भारतीयों का गर्मजोशी से स्वागत करेंगे. मैं पर्यटन मंत्री के रूप में भारतीयों से कहना चाहता हूं कि आप ज्यादा से ज्यादा संख्या में मालदीव आएं. हमारी अर्थव्यवस्था दरअसल पर्यटन पर ही निर्भर है.
बता दें कि पिछले साल की तुलना में इस साल जनवरी से अप्रैल में मालदीव जाने वाले भारतीयों की संख्या में 42 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. भारतीय पर्यटकों के लिए मालदीव काफी पसंदीदा जगह थी. लेकिन दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के बाद मालदीव जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या कम हो गई. पर्यटन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल जनवरी से अप्रैल के बीच 42,638 भारतीय पर्यटकों ने मालदीव की यात्रा की. जबकि, पिछले साल इन्हीं चार महीनों में 73,785 भारतीय पर्यटक मालदीव पहुंचे थे.

क्या था पूरा मामला?
प्रधानमंत्री मोदी चार जनवरी को लक्षद्वीप के दौरे पर थे. उन्होंने दौरे की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर लोगों से लक्षद्वीप घूमने की अपील की थी. इसके बाद छह जनवरी को मालदीव सरकार की मंत्री मरियम शिउना ने पीएम मोदी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की. उनके बाद दो और मंत्रियों महजूम माजिद और मालशा शरीफ ने भी भारत विरोधी टिप्पणी की थी. बवाल बढ़ा तो मालदीव सरकार ने तीनों मंत्रियों को निलंबित कर दिया.

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button