राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

चार धाम यात्रा की शुरुआत के साथ ही यमुनोत्री धाम पर भारी भीड़ उमड़ रही

देहरादून
 चार धाम यात्रा की शुरुआत के साथ ही तीर्थ स्थलों पर भारी भीड़ उमर रही है। क्राउड मैनेजमेंट को लेकर उत्तराखंड की पुष्कर सिंह धामी सरकार की तैयारियों पर सवाल उठने लगे हैं। दरअसल, यमुनोत्री धाम में पहले ही दिन 12 हजार से अधिक लोगों के पहुंचने के बाद सवालों का सिलसिला शुरू हो गया। यमुनोत्री धाम में भारी भीड़ उमड़ने के कारण जाम जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। लोग न आगे बढ़ रहे पा रहे थे, न पीछे जा पा रहे थे। ऐसे में श्रद्धालुओं को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा। घोड़ा और खच्चर वाले अपने-अपने स्थान पर भी पहले दिन उतर नहीं पाए। पालकी वालों को भी कोई मदद नहीं मिली।

चार धाम यात्रा में भारी भीड़ को देखते हुए पर्यावरणविद चिंतित नजर आ रहे हैं। वहीं, धामी सरकार में मंत्री सतपाल महाराज ने चार धाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं को लेकर नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि श्रद्धालु सरकार के निर्देशों का पालन करें। साथ ही, उन्होंने अधिकारियों को भी सख्त हिदायत दी है कि अफसर 'अतिथि देवो भव:' की परंपरा का विशेष ध्यान रखें। यात्रा तैयारी को पुख्ता बनाए रखने में अपना योगदान करें।
कपाट खुलते ही उमड़ा सैलाब

यमुनोत्री मंदिर के कपाट शुक्रवार को अक्षय तृतीया पर देश-विदेश के श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोल दिए गए। इससे पहले शुक्रवार की सुबह मां यमुना की उत्सव डोली शीतकालीन प्रवास खरसाली, खुशी मठ से अपने भाई शनिदेव की अगुवाई में यमुनोत्री धाम पहुंची। रोहिणी नक्षत्र की बेला में वैदिक मंत्रों के पाठ और विधि-विधान के साथ तीर्थ-पुरोहितों की उपस्थिति में सुबह 10:29 बजे मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। इसके बाद श्रद्धालुओं का हुजूम यमुनोत्री धाम में उमड़ पड़ा। पहले ही दिन कुल 12,913 भक्तों ने दर्शन किए।

भक्तों की भारी भीड़ के कारण यमुनोत्री हाइवे पर जाम जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। बुजुर्ग तीर्थयात्रियों को ले जाने वाले डोली वाहक भी किनारे पर बैठे नजर आए। उनका कहना है कि अभी दो-तीन दिन ऐसी ही भीड़ रहेगी। इसके बाद ही लोगों और डोली के चलने लायक स्थिति बन पाएगी। कुल मिलाकर 46,426 श्रद्धालु तीन धामों में दर्शन के लिए पहले दिन पहुंचे। सबसे अधिक केदारनाथ धाम में 29,030 श्रद्धालुओं ने कपाट खुलने के बाद बाबा केदार के दर्शन किए। वहीं, गंगोत्री धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 5203 रही।

मंत्री ने दिए निर्देश

धामी सरकार के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चार धाम यात्रा के लिए पहुंच रहे श्रद्धालुओं को निर्देश जारी किया है। उन्होंने कहा कि चार धाम यात्रा में आने वाले तीर्थयात्री अपना रजिस्ट्रेशन जरूर कराएं। मौसम की जानकारी और समय-समय पर राज्य सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करते हुए ही यात्रा करें। उन्होंने कहा कि पर्यटकों और तीर्थयात्रियों की लंबी कतारों से निजात दिलाने के लिए टोकन और स्लॉट की व्यवस्था की जा रही है। पर्यटन विभाग ने चार धाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों और वाहनों की सुरक्षा और निगरानी के लिए पर्यटक सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली का इंतजाम किया है।

5जी नेटवर्क से जुड़ा मार्ग, हेली सेवा शुरू

चार धाम यात्रा का मार्ग 5जी नेटवर्क सेवा से जुड़ गया है। जियो ने दावा किया कि हरिद्वार, ऋषिकेश, देवप्रयाग, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, चमोली, गोपेश्वर, जोशीमठ, उखीमठ, गुप्तकाशी, उत्तरकाशी, बड़कोट, पुरोला, टिहरी, घनसाली, चिन्यालीसौड़ आदि में भी 5जी सेवा उपलब्ध करा दी गई है। जियो के 5जी नेटवर्क का लाभ तीर्थयात्रियों के साथ स्थानीय लोगों को भी मिलेगा। वहीं, केदारनाथ के लिए कपाट खुलने के साथ ही 9 हेलीकॉप्टर कंपनियों ने हेलीकॉप्टर सेवा शुरू कर दी है। पहले ही दिन हेलीकॉप्टर कंपनियों में यात्रियों की भीड़ लगी रही। शुक्रवार सुबह से ही केदार घाटी के अनेक हेलीपेडों से हेलीकॉप्टरों की उड़ाने शुरू हुई। बड़ी संख्या में यात्री और अन्य लोग केदारनाथ पहुंचे।

वीआईपी दर्शन नहीं, शिल्पा शेट्‌टी भी पहुंची

केदारनाथ धाम में वीआईपी दर्शन की व्यवस्था पहले दिन नहीं दिखाई दी। कपाट खुलने के बाद सीएम धामी ने बाबा केदार का दर्शन-पूजन किया। इसके बाद आम और खास सभी भक्तों को दर्शन की सुविधा दी गई। पिछले सालों की तरह वीआईपी लाइन नहीं दिखाई दी। सभी भक्तों को गर्भगृह में जाने का मौका दिया गया। ऐसी व्यवस्था पहली बार दिखाई। बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी परिवार समेत शुक्रवार को जॉलीग्रांट के एसडीआरएफ हेलीपैड पहुंची। वहां रुद्राक्ष एविएशन की निदेशक श्रेया छाबरी ने उनका स्वागत किया। इसके बाद सुबह 11:15 बजे एक्ट्रेस अपने परिवार के साथ रुद्राक्ष एविएशन के एमआई-17 हेलीकॉप्टर से केदारनाथ धाम के लिए रवाना हुई। बाबा केदार के दर्शन के बाद वह लौट गई।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button