खेल जगत

मजबूत तकनीकी अभ्यास से भारत को ओलंपिक में अच्छे नतीजे मिलेंगे : तीरंदाजी कोच किम

मजबूत तकनीकी अभ्यास से भारत को ओलंपिक में अच्छे नतीजे मिलेंगे : तीरंदाजी कोच किम

रमित टंडन विश्व स्क्वाश चैंपियनशिप के दूसरे दौर में

नीरज चोपड़ा डायमंड लीग की अगली प्रतियोगिता जीतने के लिए प्रतिबद्

सोनीपत
 मशहूर तीरंदाजी कोच और मेंटोर किम ह्युंग ताक का मानना है कि हाल ही में विश्व कप में ऐतिहासिक स्वर्ण जीतने वाले भारतीय तीरंदाजों को मजबूत तकनीकी अभ्यास का फायदा ओलंपिक में मिलेगा जहां वे स्वर्ण पदक जीत सकते हैं। अभी तक तीरंदाजी में भारत के लिये एकमात्र ओलंपिक कोटा धीरज बोम्मादेवरा ने जीता है।

किम ने सोनीपत में भारतीय खेल प्राधिकरण के राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र में कोचों के सेमिनार के संचालन के बाद कहा, ‘‘भारतीय रिकर्व टीम ने काफी दमदार तकनीकी अभ्यास किया है। इससे उन्हें ओलंपिक में अच्छे नतीजे मिलने में मदद मिलेगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अभ्यास और तैयारियों में निरंतरता बनाये रखने से पेरिस में पदक जीतना संभव है।’’

भारतीय रिकर्व तीरंदाज तुर्की के अंताल्या में 14 से 17 जून तक होने वाले आखिरी क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट में टीम कोटा हासिल करने की कोशिश करेंगे।

बोम्मादेवरा, तरूणदीप राय और प्रवीण जाधव ने 28 अप्रैल को शंघाई में ओलंपिक चैम्पियन दक्षिण कोरिया को हराकर 14 साल बाद विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता था।

दुनिया भर में 30 देशों में 500 से अधिक तीरंदाजों के साथ काम कर चुके किम ने कहा कि भारत के सीनियर तीरंदाज युवाओं की मदद करने को तत्पर रहते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘कई युवा तीरंदाज है। दीपिका और तरूणदीप जैसे सीनियर उन्हें मार्गदर्शन देते हैं।इससे टीम बनाने में मदद मिलती है।’’

रमित टंडन विश्व स्क्वाश चैंपियनशिप के दूसरे दौर में

नई दिल्ली
भारत के रमित टंडन ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए अमेरिका के फराज खान को हराकर काहिरा में चल रही विश्व स्क्वाश चैंपियनशिप के दूसरे दौर में प्रवेश किया।

विश्व रैंकिंग में 36वें नंबर के खिलाड़ी और इस टूर्नामेंट में सीधा प्रवेश पाने वाले टंडन ने विश्व में 57वें नंबर के अमेरिकी खिलाड़ी को केवल 13 मिनट में 11-1, 11-3, 11-3 से करारी शिकस्त दी।

इस टूर्नामेंट में भाग ले रहे एकमात्र भारतीय खिलाड़ी टंडन का अगला मुकाबला रविवार को इंग्लैंड के सातवीं वरीयता प्राप्त मोहम्मद अल शोरबागी से होगा। मोहम्मद अल शोरबागी विश्व चैंपियनशिप में 10 बार के पदक विजेता हैं।

नीरज चोपड़ा डायमंड लीग की अगली प्रतियोगिता जीतने के लिए प्रतिबद्ध

दोहा,
 ओलंपिक और विश्व चैंपियन भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा दोहा चरण में दूसरे स्थान पर रहने के बाद डायमंड लीग की अगली प्रतियोगिता जीतने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

चोपड़ा ने दोहा डायमंड लीग में अपने अंतिम प्रयास में 88.36 मीटर भाला फेंक कर दूसरा स्थान हासिल किया था। वह इस चरण में स्वर्ण पदक जीतने वाले जैकब वाडलेज्च से केवल 2 सेंटीमीटर पीछे रह गए थे।

सत्र की अपनी पहली प्रतियोगिता में भाग ले रहे चोपड़ा ने अपने अंतिम प्रयास में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन वह अपने खिताब का बचाव नहीं कर पाए। दो बार के विश्व चैंपियन एंडरसन पीटर्स ने 86.62 मीटर के थ्रो के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

चोपड़ा ने कहा, ‘‘मेरे लिए इस साल की सबसे महत्वपूर्ण प्रतियोगिता पेरिस ओलंपिक है लेकिन डायमंड लीग भी काफी महत्वपूर्ण है। यह मेरी इस सत्र की पहली प्रतियोगिता है तथा मैं केवल 2 सेंटीमीटर के अंतर के कारण दूसरे स्थान पर रहा लेकिन अगली बार में इससे बेहतर प्रदर्शन करके जीत दर्ज करने की कोशिश करूंगा।’’

डायमंड लीग का अगला चरण, जिसमें भाला फेंक स्पर्धा शामिल है, सात जुलाई को पेरिस में होगा। चोपड़ा ने कतर में भारतीय प्रशंसकों का भी आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा,‘‘यहां कतर में भारतीय लोगों से समर्थन मिलना शानदार रहा। उनके इस समर्थन के लिए आभार व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है। हो सकता है कि भविष्य में भारतीय खिलाड़ी इससे भी आगे निकल जाएं। मुझे भारतीय होने पर वास्तव में गर्व है।’’

 

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button