स्वास्थ्य

महिलाओं के लिए आवश्यक: रोजाना दो बार साफ करने वाले छः शरीर के अंग

आज के दौर में हर कोई पर्सनल हाइजीन का ख्याल रखता है, लेकिन इस मामले में महिलाओं को ज्यादा सतर्क रहना चाहिए, क्योंकि गर्मी के सीजन में पसीने के कारण अलग-अलग बॉडी पार्ट्स पर बैक्टीरिया इकट्ठा हो जाते हैं, जो खुजली, जलन और इन्फेक्शन पैदा कर सकते हैं। इन दिक्कतों से बचने के लिए मॉर्निंग बाथ काफी नहीं है, बल्कि दिन में कम से कम दो बार साफ-सफाई करना भी जरूरी है। महिलाओं को विशेष तौर पर अपने शरीर के किन हिस्सों को दिन में दो बार जरूर क्लीन करने चाहिए, चलिए आपको बताते हैं। (फोटो साभार: : Freepik)

अंडर आर्म्स

कामकाजी महिलाएं ठीक से मॉर्निंग बाथ नहीं ले पातीं, जिससे उनकी बगल या आर्मपिट पर गंदगी जमी रह जाती है। इससे बगल में कालापन, बदबू और आसपास की जगह पर रैशेज होने के चांस बढ़ जाते हैं। गर्मी में आने वाला ज्यादा पसीना इन समस्याओं को और ज्यादा बढ़ा देता है। इसलिए इस हिस्से को दिन में कम से कम दो बार जरूर अच्छे से क्लीन करना चाहिए।

वजाइना

महिलाओं में वजाइनल इंफेक्शन बेहद आम है। हाउसवाइफ हों या वर्किंग वुमन, महिलाओं का एक बड़ा प्रतिशत वजाइनल इंफेक्शन की दिक्कत से जूझ रहा है। इस समस्या से निपटने का एक ही तरीका है स्पेशल केयर।

महिलाएं दिन में 2-3 बार अपने प्राइवेट पार्ट को पानी से जरूर साफ करें। ऐसा करने से बीमारी बढ़ाने वाले बैक्टीरिया और गंदगी जमा नहीं होंगे।

पैर

घर के अंदर फर्श पर बैक्टीरिया पनपते रहते हैं, जो पैरों से चिपक जाते हैं और फंगल इंफेक्शन को बढ़ाते हैं। इसे रोकने के लिए पैरों को दिन में दो बार साबुन से साफ करें।

इसके अलावा, पैरों की उंगली और नाखूनों को भी हफ्ते में 2-3 बार पानी, बेकिंग सोडा और नींबू के घोल से साफ रखना चाहिए।

हिप्स

टॉयलेट सीट के संपर्क में आने से हिप्स पर भी जर्म्स इकट्ठा हो जाते हैं। गर्मियों में आने वाला पसीना स्थिति को बिगाड़ सकता है।

ये जर्म्स साधारण पानी से साफ नहीं होते, इसलिए अपने हिप्स और बैक एरिया को भी साफ-सुथरा रखने के लिए इंटिमेट हाइजीन प्रोडक्ट का यूज कर सकती हैं।

हाथ

आज भी महिलाएं घर के ज्यादातर काम हाथों से ही करती हैं। जहां मशीनों का रोल कम और मेहनत ज्यादा है, वहां हाइजीन मेंटेन करनी ही चाहिए। गर्मियों में आने वाला पसीना बैक्टीरिया की मौजूदगी के चांस बढ़ा देता है। इसके लिए महिलाएं समय-समय पर हाथों को एक मॉइश्चराइजिंग हैंडवॉश से साफ करती रहें।

दांत और जीभ

डेंटल प्रॉब्लम से बचने के लिए ओरल हाइजीन मेंटेन करना बेहद जरूरी है। गर्मियों में इसका और ज्यादा ख्याल रखा जाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्मी के मौसम में स्वीट बेस्ड ड्रिंक्स का कंज्मशन बढ़ जाता है।

इसके लिए दिन में दो बार ब्रशिंग की आदत डालें। सुबह के अलावा रात को सोने से पहले भी ब्रश कर लें, जिससे दांतों पर जमी गंदगी साफ हो जाए। जीभ को भी टंग क्लीनिंग टूल से सही तरीके से साफ करें।

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button