राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय

इंदौर में 2677 बूथों पर मतदान के लिए नियुक्त होगा चार सदस्यीय दल

इंदौर

 लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के बाद से ही जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा मतदान की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। इंदौर जिले के नौ विधानसभा क्षेत्रों में 2677 मतदान केंद्रों पर सुविधाएं जुटाने की प्रक्रिया की जा रही है। जिले में चुनावी प्रक्रिया की संपन्न कराने की जिम्मेदारी करीब 18 हजार कर्मचारी संभालेंगे। जिला प्रशासन से सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के अवकाश पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही विभिन्न दलों का गठन किया जा रहा है। सभी दलों को बारी-बारी से प्रशिक्षण दिया जाएगा।

जिले में मतदान दलों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम 15 अप्रैल से शुरू होगा। एक दल में पीठासीन अधिकारी सहित चार सदस्यों को नियुक्त किया जाएगा। मतदान दलों के लिए 12 हजार कर्मचारी और अधिकारियों की आवश्यकता होगी। यह दल नेहरू स्टेडियम से सामग्री लेन के साथ ही मतदान केंद्र पहुंचकर मतदान की प्रक्रिया कराने के बाद वापस सामग्री जमा कराएगा।

इस दल में शामिल पीठासीन अधिकारी और पी-1 अधिकारी को चार दिन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें ईवीएम, वीवीपेट सहित पूरी मतदान की प्रक्रिया की जानकारी दी जाएगी। इसके बाद पूरे दल का प्रशिक्षण 3 मई से प्रारंभ होगा। इसमें दल के सभी चार सदस्यों को मतदान की प्रक्रिया समझाई जाएगी।

जिले में 191 सहायक मतदान केंद्र बनाएं

इंदौर जिलें में 2486 मतदान केंद्रों के अतिरिक्त 191 सहायक मतदान केंद्र भी बनाए गए हैं। 1500 से अधिक मतदाता संख्या वाले केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहां मतदाताओं को विभाजित किया जा रहा है। जिले में 2677 मतदान केंद्रों के लिए दलों का गठन किया जा रहा है। सुविधा के लिए 10 प्रतिशत अधिक मतदान दल का गठन किया जाएगा।

मौजूद रहेगी स्वास्थ्य विभाग की टीम

गर्मी के मौसम में होने वाले चुनाव को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने कर्मचारियों और अधिकारियों की सेहत को लेकर उपचार की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। प्रत्येक सेक्टर अधिकारी के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम मौजूद रहेगी। वहीं सभी दलों को प्राथमिक उचार की किट भी उपलब्ध कराई जाएगी। आवश्यकता अनुसार एंबुलेंस और अन्य सुविधाओं को भी पहले से चिन्हित किया जाएगा।

जीपीएस से होगी ट्रैकिंग

लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्येक दल और सेक्टर आफिसर के वाहनों, वीवीपेट और ईवीएम लाने एवं ले जाने वाले वाहनों की जीपीएस ट्रैकिंग से निगरानी होगी। सभी वाहनों में जीपीएस लगाए जा रहे हैं। इसका नोडल अधिकारी संयुक्त कलेक्टर विजय मंडलाई को नियुक्त किया गया है।

इंदौर जिला

– 9 विधानसभा क्षेत्र

– 2677 मतदान केंद्र

– 27 लाख 95 हजार 751 मतदाता

– 14 लाख 11 हजार 166 पुरुष मतदाता

– 13 लाख 84 हजार 483 महिला मतदाता

– 102 थर्ड जेंडर मतदाता

– 12 हजार कर्मचारी मतदान दलों में नियुक्त होंगे

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Dinesh Purwar

Editor, Pramodan News

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button